क्या आपने भी अब एक छोटी डायरी रखने का फैसला कर लिया है? भूलने की बीमारी ने बहुतों को नोट बुक रखने पर मजबूर कर दिया है. पर सोचिए किसी दिन आप इस नोट बुक को ही कहीं रखकर भूल गए तो…?

अगर आपको अपनी जरूरी चीजों को भी याद रखने में तकलीफ होने लगी है तो सावधान हो जाइए. ये अल्ज़ाइमर के शुरुआती लक्षण हैं. अभी अल्ज़ाइमर की शुरुआत हुई है और आप चाहें तो अपनी डाइट में कुछ चीजों को शामिल करके और कुछ आदतें बदलकर इस खतरे को बढ़ने से रोक सकते हैं.

अल्ज़ाइमर, एक खतरनाक दिमागी बीमारी है, जिसका सीधा असर दिमाग पर होता है, जिसकी वजह से ता‍र्किक क्षमता और याददाश्त पर असर पड़ता है.

ये डिमेंशिया का सबसे सामान्य रूप है. इस बीमारी का सीधा संबंध बढ़ती उम्र से है. 60-65 की उम्र के बाद ज्यादातर लोगों को अल्ज़ाइमर की शिकायत हो जाती है.

कुछ लोगों में ये अनुवांशिक भी होता है. कई बार सिर में गंभीर चोट लगने की वजह से या बहुत अधिक तनाव लेने वालों को भी अल्ज़ाइमर की शिकायत हो जाती है. सबसे अधिक चिंता की बात ये है कि अल्ज़ाइमर की कोई स्पेसिफिक दवा नहीं है. इससे बचाव ही इसका इलाज है.

ऐसे में बेहतर यही है कि हम सावधान रहें और खानपान में ऐसी चीजों को शामिल करें, जिससे इस बीमारी के खतरे से बचा जा सके.

डाइट में शामिल करें ये 7 चीजें और दूर करें अल्ज़ाइमर का खतरा:

1. हरी सब्ज‍ियां
हरी सब्ज‍ियों को डाइट में शामिल करें. ये विटामिन ए और सी का बेहतरीन स्त्रोत होती हैं. हरी सब्ज‍ियों में कई ऐसे पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो दिमागी सेहत के लिए जरूरी होते हैं. आप चाहें तो अपनी डाइट में पालक, ब्रोकली, बीन्स और ऐसी ही दूसरी हरी सब्ज‍ियों को शामिल कर सकते हैं.

2. ओमेगा 3 फैट
साल्मन मछली, टुना और दूसरी मछलियां हेल्दी ऑयल और ओमेगा 3 फैटी एसिड का अच्छा स्त्रोत होती हैं. अपनी डाइट में ऐसी चीजों को जरूर शामिल करें, जिनमें ओमेगा 3 मौजूद हो.

3. बहुत तली-भुनी चीजों से बचें, पैकेट वाले खाने को भी कहें ना
डीप फ्राई चीजों को खाने से बचें. इसके अलावा प्रोसेस्ड फूड भी नुकसानदेह हो सकता है. ये चीजें शरीर में फ्री-रेडिकल्स को बढ़ाती हैं, जो दिमाग के लिए खतरनाक हो सकती हैं. इन चीजों में हाइड्रोजेनेटेड ऑयल होता है, जो दिमागी सेहत के लिए खतरनाक होता है.

4. अलसी या फ्लैक्स सीड्स
फ्लैक्स सीड्स में ओमेगा 3 फैटी एसिड्स की अच्छी मात्रा होती है. बहुत से अध्ययनों में साबित हो चुका है कि फ्लैक्स सीड्स बीटा-एमिलॉयड प्लाक को बनने से रोकता है, जिससे अल्ज़ाइमर का खतरा कम होता है.

5. चीनी कम खाएं
बहुत अधिक मात्रा में चीनी लेना खतरनाक हो सकता है. इससे ब्लड शुगर बढ़ जाता है, जिससे दिमाग को नुकसान पहुंचता है.

6. फल खाना है जरूरी
फलों में एंटी-ऑक्सीडेंट, विटामिन, कैल्शियम, आयरन, जिंक और दूसरे कई पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं. इनके सेवन से याददाश्त दुरुस्त रहती है. साथ ही अल्ज़ाइमर का खतरा भी कम होता है.

7. ड्राई फ्रूट्स
अल्ज़ाइमर से बचे रहना है तो ड्राई फ्रूट्स जरूर खाएं. इनमें फाइबर, फैट और एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं. जो दिमागी सक्रियता को बढ़ाते हैं और अल्ज़ाइमर के खतरे को कम करते हैं.