पूरे उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप जारी है. आधा हिन्दुस्तान ठंड से कांप रहा है. शीतलहर से पूरे उत्तर भारत में हाहाकार मच गया है सभी इलाकों में ठिठुरन इतनी बढ़ गयी की यह जानलेवा साबित हो रही है. लोग जगह जगह  अलाव लगा कर  ठंड से बचने की जुगत कर रहे है. दिल्ली में सर्दी का सितम जारी है. न्यूनतम तापमान 5 डिग्री दर्ज किया गया है. सर्द हवाओं ने लोगों की परेशानी को और बढ़ा दिया है. रविवार को हल्की धूप निकली. लेकिन सोमवार सुबह फिर कोहरे और ठंड का असर देखा गया है. धने कोहरे के कारण रेल और हवाई यातायात प्रभावित हो रहा है. पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी ने लोगों की मुश्किल और बढ़ा दी है. हिमाचल, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी के कारण कई इलाकों में तापमान शून्य से नीचे है.

मौसम विभाग के अनुसार शीतलहर का प्रकोप अभी एक दो दिन और जारी रहेगा. ठंड के कारण खुले आसमान में रहने वाले लोगों की भी परेशानी बढ़ गई है. मौसम विभाग की मानें तो फिलहाल हाड़ कंपाती सर्दी से निजात के आसार नहीं है. अगले कुछ दिनों तक सर्दी का सितम जारी रहेगा. अधिकारियों ने बताया कि कोहरे के कारण शहर के कई हिस्सों में दृश्यता प्रभावित हुई. सुबह साढ़े आठ बजे पालम में दृश्यता 400 मीटर जबकि सफदरजंग पर 800 मीटर दर्ज की गई.

राजस्थान  पंजाब और हरियाणा में पिछले 1 दिसम्बर से कड़ाके की सर्दी के साथ ठिठुरन जारी है. तीनो  राज्यों के अधिकतर  शहरों में न्यूनतम तापमान दो से पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है. पंजाब में आदमपुर सबसे अधिक सर्द इलाका रहा. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने यहां बताया कि पंजाब के आदमपुर में न्यूनतम तापमान 0.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है जो तीनो राज्यों का सबसे सर्द इलाका रहा. वहीं हरियाणा के नारनौल में भी जमा देने वाली सर्दी पड़ रही है. यहां न्यूनतम तापमान 1.5 डिग्री सेल्सिसयस रिकॉर्ड किया गया है. वही राजस्थान में कड़ाके की सर्दी के कारण जयपुर और बीकानेर संभागों में न्यूनतम तापमान में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई. मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार प्रदेश के चूरू एवं पिलानी में रविवार सुबह जबरदस्त सर्दी के साथ घना कोहरा छाया रहा.

कोहरे के कारण पश्चिमोार रेलवे की कई गाड़ियां अपने निर्धारित समय से देरी से चल रही हैं.  मैदानी इलाकों में घने कोहरे के कारण रेल यातायात करने वालो को भारी परेशनी हो रही है. धने कोहरे के चलते 18 ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. 8  ट्रेनों को शेड्यूल चेंज किया गया तथा 50 ट्रेनें विलम्ब  चल रही हैं. ट्रैनो के रद्द होने के कारण यात्रा करने वाले यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पद रहा है.