दिल्ली पुलिस, स्पेशल सेल और गुजरात एटीएस के एक संयुक्त अभियान मे कल शाम लाल किला पर हमले करने का आरोपी बिलाल अहमद काहवा को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार  किया गया। गिरफ्तारी के बाद से ही कई एजेंसियां आतंकी से पुछताछ कर रही है।

गुजरात एटीएस को गुप्त जानकारी मिलि थी की आरोपी बिलाल अहमद काहवा दिल्ली एयरपोर्ट से श्रीनगर जा रहा है। गुजरात एटीएस ने यह जानकारी दिल्ली को बतायी और दोनो स्पेशल सेल के साथ यह अभियान चलाया और दिल्ली एयरपोर्ट से आतंकी को दबोचा।

यह हमला 22 दिसंबर को किया गया था इस हमले में आर्मी मे तीन लोग मारे गए थे। इस घटना के बाद पुलिस ने मामला 11 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। कोर्ट ने 11 आरोपियों को दोषी करार दिया था। आरोपी मोहम्मद आरिफ उर्फ अश्फाक को कोर्ट के द्वारा मोत की सजा दी गई है। आरोपी बिलाल हमले के बाद से ही फरार चल रहा था।

पुलिस जांच ने बताया कि बिलाल काहवा के कई अकाउंट मे हवाला के द्वारा 29,50,000 रुपये ट्रांसफर किए गए थे। यह सभी रुपये एक अन्य आरोपी मोहम्मद आरिफ उर्फ अष्फाक के द्वारा खातों मे जमा कराई गयी थी।

आरोपी ने इन्ही पैसे से लाल किले पर साजिश रची थी और हथियार भी इन्ही रुपये से खरीदे गए थे। लाल किले का आरोपी बिलाल हमले के बाद से ही फरार चल रहा था। तभी से आरोपी की पुलिस को तलाश थी। दिल्ली पुलिस, स्पेशल सेल और गुजरात एटीएस ने संयुक्त अभियान चला कर आरोपी को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया।

26 जनवरी से ठीक पहले बड़े आतंकी की गिरफ्तारी दिल्ली और गुजरात पुलिस के लिए बड़ी सफलता मानी जा रही है. अब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल आतंकी बिलाल के मंसूबों का पता लगाने के लिए उससे पूछताछ कर रही है।