भारत के 30%  लोगो की फोन मेमोरी इस वजह से फुल हो जाती है क्योकि स्मार्टफोन और इंटरनेट यूजर रोज सुबह भारी मात्रा में गुड मॉर्निंग मैसेज सेंड करते है।

गूगल की एक रिपोर्ट से रोचक नतीजा निकला कि भारत के हर तीन में से एक स्मार्टफोन यूजर की मेमोरी गुडमॉर्निंग मैसेज से फुल हो रही है। भारत में गुड मॉर्निंग, गुड नाइट या त्योहारों की बधाई वाले मैसेज और फोटो का ट्रेंड बढ़ा है। भारत में गुड मॉर्निंग मैसेज भेजने का चलन अमेरिका से भी अधिक है। अमेरिका मे सिर्फ 10% यूजर की मेमोरी इन मैसेज से भरी पड़ी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में पिछले पांच साल में गुड मॉर्निंग मैसेज और फोटो भेजे जाने के चलन में दस गुना तक का इजाफा हुआ है। भारत मे सस्ते होते फोन और डाटा पैक्स ने इस चनल को और बढ़ने में मदद की है। भारत में 40 करोड़ से ज्यादा इंटरनेट यूजर, 30 करोड़ स्मार्टफोन यूजर हैं। जो दुनिया की दूसरी सबसे ज्यादा संख्या है।

इस लोकप्रियता की वजह से पिछले साल फेसबुक ने होम पेज पर एक स्पेशल फीचर जोड़ा था। इससे यूजर अपनी फ्रेंड लिस्ट के लोगों को गुड मॉर्निंग भेज सकता हैं। फेसबुक की तरह पिनट्रेस्ट ने भी अपने होम पेज पर एक नया सेक्शन जोड़ा था जिसमें फोटो के साथ गुड मॉर्निंग मैसेज मौजूद है। ये फीचर एड करने के बाद तो पिनट्रेस्ट पर होने वाले फोटो डाउनलोड में नौ दुना इजाफा हो गया था।

फाइल्स गो ऐप मेमोरी साफ करता है।

गुड मॉर्निंग मैसेज का ट्रेंड कितना बढ़ चुका है कि गूगल को इस तरह के मैसेज रोकने के लिए फाइल्स गो नाम का ऐप बनाना पड़ा। यह ऐप फोन मेमोरी में से गुड मॉर्निंग मैसेज और फोटो को पहचानकर खुद डिलीट कर देगा।

एंड्रॉयड गो पर उपलब्ध ये ऐप मैसेज और फोटो डिलीट करके फोन से 1 जीबी तक मेमोरी साफ कर सकता है। अभी तक इस ऐप को भारत में 1 करोड़ से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं। गूगल ने कहा कि फाइल्स गो ऐप को जल्द ही गूगल प्ले स्टोर पर भी उपलब्ध कराया जाएगा।