भारतीय नौसेना बेडे में जल्द ही 67.5 मीटर लंबाई और 12.3 मीटर ऊंचाई की पन्डुब्बी शामिल की जा रही हैं। यह पन्डुब्बी दुश्मनों का खात्मा करेगी। इस का वनज 1565 टन है।

स्कॉर्पीन पनडुब्बी आधुनिक फीचर्स से लैस है। इस पन्डुब्बी में खास बात यह है की यह पनडुब्बी श्करंजश् आज लांच किया गया है। इसका निर्माण मेक इन इंडिया के तहत हुआ है। इसको मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड ने तैयार किया है।

भारतीय नौसेना ने आज जिस पन्डुब्बी को समंदर में उतारा है यह  स्कॉर्पीन श्रेणी में आती है। ऐसे दुश्मनों से निपटेगी जो मुंबई समंदर से नजरें गड़ाए रहते है।

इस पनडुब्बी की ऊंचाई 12.3 मीटर, लंबाई 67.5 मीटर और वनज 1565 टन है। भारतीय नौसेना के अनुसार यह पनडुब्बी मेक इन इंडिया की पहचान है। यह स्वदेशी है।

स्कॉर्पीन पनडुब्बी करंज  की विशेषताएं

यह स्कॉर्पीन पनडुब्बी करंज अत्याधुनिक विशेषताएं से लैस है। यह दुश्मनों से बचकर दुश्मनों पर बेचुक निशाना लगा सकती है। यह टॉरपीडा और एंटी शिप मिसाइलों का भी निशाना बना सकती है। इससे पानी के अंदर भी हमला कर सकते है। इसकी एक और विशेषता है कि इससे सतह पर पानी के अंदर से भी हमला किया जा सकता है।

इसको इस तरह से डिजाइन किया गया है कि इसे किसी भी प्रकार की लड़ाई मे ऑपरेट किया जा सकता है। यह पनडुब्बी हर प्रकार के एंटी-सबमरीन वॉरफेयर, वॉरफेयर और इंटेलिजेंस को इकट्ठा कर सकती है।