एमपी के भोपाल में हमीदिया हॉस्पिटल में एक अनोखी घटना देखने को मिली हे घटना इस तरह की हे कि आज कल नॉर्मली बुखार का नाम तो सबने  सुना होगा लेकिन यहा एक नए बुखार से दो लड़को कि मोत हो गई | भोपाल में हमीदिया हॉस्पिटल में  जैपनीज इनसिफेलाइटिस बुखार से दो बच्चों की मौत हो गई। पहली बार भोपाल में जेई बुखार से दो बच्चों की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी किया है। साथ ही सभी नर्सिंग होम्स के डॉक्टर्स को सर्दी, खांसी और बुखार से पीड़ित बच्चों की जांच जेई गाइडलाइन से करने के निर्देश दिए हैं। District Malaria Officer अखिलेश दुबे ने बताया कि जापानी बुखार क्यूलेक्स मच्छर के काटने से होता है। इस बुखार का संक्रमण सबसे ज्यादा बच्चों को होता है। भोपाल में इस बीमारी के संक्रमण को काबू करने 16 एंटी लार्वा सर्वे टीमें बनाई गई हैं। यह टीमें रोजाना डोर – टू – डोर सर्वे कर लोगों को क्यूलेक्स मच्छर की पहचान और लार्वीसाइट का छिड़काव कर मच्छरों के लार्वा खत्म करेंगी