मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह हमेशा किसी न  किसी बात को लेकर चर्चा  में रहते हे और अब उन्होने  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फिटनेस चैलेंज पर कहा है  की जहा  देश में बेरोजगारी है, अर्थव्यवस्था बिगड़ रही है, नोटबंदी विफल रही है, जीएसटी से व्यापारी परेशान हैं और उनको फिटनेस चैलेंज की लगी हुई है।

मैं  प्रधानमंत्री  नरेंद्र  मोदी जी से कहता हूं, आइए आप  मेरे साथ नर्मदा की परिक्रमा करके दिखाइए। वह रविवार को कुछ देर के लिए झाबुआ पहुंचे थे। इस दौरान मीडिया से बातचीत में कहा कि मैं अपने उस बयान पर अब भी  कायम हूं, जिसमें यह कहता हूं कि किसी भी आतंकी घटना में अगर हिंदू व्यक्ति पकड़े गए हैं तो वो कभी न कभी संघ के कार्यकर्ता रहे हैं। महात्मा गांधी की हत्या करने वाला नाथूराम गोडसे भी आरएसएस के ही सदस्य थे । राज्य के शाजापुर में शनिवार को हुए उपद्रव को लेकर कहा कि भाजपा को जब लगता है कि वह चुनाव नहीं जीत पाएगी तो वह हिंदू-मुस्लिम दंगे कराती है।

और तो और भय्यू महाराज की आत्महत्या को लेकर सिंह ने कहा कि वह एक आध्यात्मिक व्यक्ति थे, लेकिन इतना तय है कि कोई भी आध्यात्मिक व्यक्ति आत्महत्या नहीं कर सकता। हालांकि, उनका सुसाइड नोट मिला है।